PM Scholarship 2022

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना 2022: PM Scholarship Scheme 2022

कल्याण एवं पुनर्वास बोर्ड, गृह मत्रांलय, भारत सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री स्कॉलरशिप योजना 2022 || पीएम स्कॉलरशिप स्कीम एक ऐसी योजना है जिसका उद्देश्य केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और असम राइफल्स और राज्य पुलिस कर्मियों के आश्रित बच्चों और विधवाओं के लिए उच्च पेशेवर और तकनीकी शिक्षा को प्रोत्साहित करना है।

पोस्ट करने की तिथि: 09/06/2022    : 351

विस्तृत विवरण

इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा आरंभ किया गया है। Pradhanmantri Scholarship Yojana के माध्यम से उन पुलिस कर्मियों, असम राइफल्स, आरपीएफ तथा आरपीएसएफ के बच्चों एवं विधवाओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी जिनकी मृत्यु आतंकी या नक्सली हमले के कारण या फिर अपनी सेवा के दौरान हुई हो। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से यदि पुलिस कर्मि, असम राइफल्स, आरपीएफ तथा आरपीएसएफ विकलांग हुए हैं तो इस स्थिति में भी उनके बच्चों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से ₹2000 से लेकर ₹3000 तक की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए छात्रों को 12वीं कक्षा में 60% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। विदेश में शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्रों को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का लाभ मान्यता प्राप्त संस्थानों में शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्र ही उठा सकते हैं। वह सभी नागरिक जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं वह नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

योजना का नाम प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना
किसने आरंभ की केंद्र सरकार
लाभार्थी देश के नागरिक
उद्देश्य छात्रवृत्ति प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट https://scholarships.gov.in/
साल 2022

 

प्रधानमंत्री स्कॉलरषिप योजना 2022 के मुख्य बिंदु

  1. इस योजना के अंतर्गत लगभग कुल 5500 स्कॉलरशिप प्रति वर्ष प्रदान की जायेंगी।
  2. कुल 5500 स्कॉलरशिप में से 2750 स्कॉलरशिप छात्रों को और 2750 स्कॉलरशिप छात्राओं को प्रदान की जायेंगी।
  3. यह स्कॉलरशिप कोर्स की अवधि के अनुसार ही प्रदान की जाएगी।
  4. देश से बाहर शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए इस छात्रवृत्ति का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  5. इस योजना का लाभ केवल एक कोर्स के लिए किया जाता है। यह योजना डिजिटल कोर्स के लिए नहीं है।
  6. अगर आवेदन फॉर्म में किसी प्रकार की कोई गलती हो जाए तो उसको 10 दिन के अंदर-अंदर ठीक करना होगा अन्यथा आवेदन फॉर्म रद्द कर दिया जाएगा।
  7. इस योजना में अगर छात्र दो कोर्स में एडमिशन लेता है और एक डिग्री प्रोफेशनल और दूसरी डिग्री नॉन-प्रोफेशनल है तो उस छात्र को प्रोफेशनल डिग्री की छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।
  8. आवेदन पत्र में दिया गया मोबाइल नंबर और ई-मेल छात्र का होना चाहिए

पीएम छात्रवृत्ति योजना 2022 के अंतर्गत कोर्स

कोर्स का नाम अवधि
बीटेक 4 वर्ष
बेचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग 4 वर्ष
बेचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर 4 से 5 वर्ष
एम.बीबीएस 4.5 वर्ष
बी.डीएस 5 वर्ष
बी.एएमएस 4.5 वर्ष
बी.एचएमएस 4.5 वर्ष
बी.एसएमएस 4.5 वर्ष
बी.यूएमएस 5वर्ष
बी.एससी बीपीटी 4 वर्ष
बीएससी मेडिकल लेब टेक्नोलॉजी 4 वर्ष
बी.वीएससी और एएएच 5वर्ष
बी.फार्मा 4 वर्ष
बीएससी नर्सिंग 4 वर्ष
बी.एनवाईएएस 5 वर्ष
डॉक्टर और फार्मेसी 4 वर्ष
बीएससी ऑप्टोमेट्री 3 वर्ष
व्यावसायिक चिकित्सा में स्नातक 4.5 वर्ष
एम.बीए 2 वर्ष
बीबीए 3 वर्ष
बीबीएम 3 वर्ष
बीसीए 3 वर्ष
एमसीए 3 वर्ष
बीप्लान 4 वर्ष
बीएससी कृषि 4 वर्ष
बी.एफएसएसी / बी.फिशरीज 4 वर्ष
बी.एससी बागवानी 4 वर्ष
विनीत सचिव 4 वर्ष
बी एससी बायो – टेक 3 वर्ष
बी.एड 1 वर्ष
बी.एमसी 3 वर्ष
होटल प्रबंधन की डिग्री 4 वर्ष
बीपीएड 1 वर्ष
बीएएसएलपी 4 वर्ष
बीएफटी 3 वर्ष
बीएएससी माइक्रोबायलॉजी 3 वर्ष
बीएससी एचएचए 3वर्ष
एलएलबी 2 से 3 वर्ष
प्रारम्भिक शिक्षा में स्नातक 3 से 5 वर्ष
बीएफए 4 वर्ष
बी.एफडी 3 वर्ष
बीए.एलएलबी 5 वर्ष

योग्यता एवं पात्रता

इस योजना के लिए पात्रता की जानकारी निम्नलिखित है:

  1. आवेदनकर्ता की आयु 18 से 25 वर्ष की होनी चाहिए।
  2. प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का लाभ केवल आर्थिक रूप से कमजोर छात्र ही ले सकते है।
  3. आवेदनकर्ता की वार्षिक आय छः लाख से कम होनी चाहिए।
  4. आवेदक के 12वीं कक्षा में कम से कम 60% अंक प्राप्त किए हो वह तभी इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है।
  5. आवेदक भारत देश का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  6. न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 12वीं कक्षा निर्धारित की गई है।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

 प्यारे दोस्तों, अगर आप “पीएम मोदी स्कालरशिप स्कीम” के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इसकी ऑफिसियल वेबसाइट desw.gov.in पर जाना होगा। 

इस लिंक पर क्लिक करने के बाद, पूर्व सैनिक कल्याण विभाग (Ex-Servicemen Welfare Department) का पेज खुल जायेगा। यहाँ पर आपको प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।

  1. आवेदन/पंजीकरण फॉर्म को PDF फॉर्मेट में डाउनलोड करने के लिए सीधे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।
  2. ऊपर दिया लिंक पर क्लिक करने के बाद, आप Kendriya Sainik Board Portal में पहुंच जाओगे।
  3. यहाँ पर आपको PMMS Online एप्लिकेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  4. अंत में फॉर्म को ऑनलाइन जमा करने के लिए ‘Submit’ बटन में क्लिक कर दे।
  5. यदि आपने प्रथम वर्ष के लिए आवेदन किया है और आप दूसरे और तीसरे वर्ष के अध्य्यन के लिए आवेदन करना चाहते है तो आपको Pradhan Mantri Scholarship Application Form को Renew करना होगा।

  6. KSB की ऑफिसियल वेबसाइट पर PMSS के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  7. यहाँ पर आपको Renewal Application लिंक पर क्लिक करके Apply Online पर क्लिक करना होगा।
  8. ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद, आपके सामने लॉगिन फॉर्म खुल जायेगा।
  9. इस फॉर्म में आपको यूजरनेम लॉगइन/आईडी व पासवर्ड की सहायता से Login करें।
  10. इसके पश्चात, आवेदन फार्म को फॉरवर्ड कर दें तथा प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना नवीनीकरण आवेदन फॉर्म का प्रिंट-आउट निकालकर सुरक्षित कर ले।

आवश्यक दस्तावेज

  1. उम्मीदवार का आधार कार्ड
  2. बैंक खाते की पासबुक
  3. बोनाफाइड प्रमाण पत्र
  4. छात्र के 10th या 12th का सर्टिफिकेट
  5. भूतपूर्व सैनिक / पूर्व तट प्रमाण पत्र
  6. छात्र या छात्रा का पासपोर्ट साइज फोटो
  7. ईएसएम प्रमाण पत्र।

चयन प्रक्रिया

Pradhan Mantri Scholarship Scheme के तहत चयन प्रकिया के दौरान प्राथमिकता निम्नलिखित क्रम में दी जाएगी।

  1. पूर्व सैनिकों के विधवा या आश्रित वार्ड या तट रक्षक बल के सदस्य, जिन्होंने कार्रवाई में अपनी जान गंवा दी।
  2. उन पूर्व सैनिकों या तट रक्षक बल के बच्चे/विधवाएं, जो ड्यूटी के दौरान किसी भी चोट से पीड़ित और विकलांग थे।
  3. उन सैनिकों के परिवार के सदस्य जिनकी मृत्यु सेना से संबंधित कारणों से ड्यूटी के दौरान हुई थी।
  4. किसी भी चोट से पीड़ित पूर्व सैनिकों के परिवार के सदस्य विकलांग हो गए।
  5. ऐसे उम्मीदवार जिनके पति या पिता राष्ट्र की सेवा में आने में सक्षम थे और उन्हें कोई वीरता पुरस्कार मिला।
  6. पूर्व तट रक्षक सदस्यों के बच्चों और विधवाओं के साथ-साथ पूर्व सैनिकों को भी चुना जाएगा, जो “कार्मिक से नीचे के कर्मचारी” श्रेणी में आते हैं।